Home बैंक Bank of india में शिकायत करने के 5 आसान तरिके

Bank of india में शिकायत करने के 5 आसान तरिके

0
327
Bank of india me shikayat kaise kare online

bank of india me complain kaise kare :- आपका दोस्तों कैसे हैं आप लोग उम्मीद करता हूं कि बढ़िया होंगे आज आप लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण जानकारी लेकर आया हूं इस लेख में आप जानने वाला है bank of india me shikayat kaise करते हैं जैसा कि आप लोग भी जानते होंगे अगर कोई कर्मचारी या बैंक मैनेजर जा किसी प्रकार के बैंक समस्या आती है तो आप उसे एक कंप्लेंट करना चाहेंगे परंतु आप कंप्लेंट करना नहीं जानते हैं और कैसे करेंगे कहां पर करेंगे उनके बारे में कुछ नहीं जानकारी हैं तो आप लोग इस पोस्ट में सभी जानकारी जाने वाले हैं आप लोग इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

बहुत से कस्टमर आए हैं इनको शिकायत दर्ज करना है उसे किसी प्रकार की समस्या आ रही है बहुत सारे ग्राहक ऐसे होते हैं जो लोग जानबूझकर भी शिकायत करते हैं लेकिन आपको उस से बच कर रहना यदि आपको किसी प्रकार की बैंक में दिक्कतें आ रहे हैं तभी आप शिकायत कर सकते हैं अन्यथा आप पर कार्यवाही की जाएगी अगर समस्या है तो यहां बताया गया है कि आप किस तरह से शिकायत कर सकते हैं स्टेप करके ताकि आपको समझने में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी तो आइए शुरू करते हैं बैंक ऑफ़ इंडिया शिकायत कैसे करें के बारे में विस्तार से जानते हैं।

बैंक ऑफ इंडिया में मेरी शिकायत क्यों करते हैं

बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) में शिकायत दर्ज करते हैं कुछ प्रमुख करने से:

  1. खाते से संबंध समस्या: लोग बीओआई में शिकायत दर्ज करते हैं जब उनके खाते से संबंध समस्या होती है, जैसे गलत चार्ज लगाना, गैर अधिकृत लेनदेन, गलत बैलेंस का कैलकुलेशन, घाटाए जाने वाले बीमा क्लेम, आदि।
  2. व्यवहार से संबंध समस्या: बीओआई के कर्मचारियों के व्यवहार से संबंध समस्या होने पर लोग शिकायत दर्ज करते हैं। ये समस्या हो सकती है, जैसे असयोग और अष्टाचार व्यवहार, अवसर पर सही सलाह न देना, समय पर जवाब न देना, आदि।
  3. उच्च सेवा न प्रदान करने पर: अगर बीओआई किसी व्यक्ति को उच्च सेवा न प्रदान करता है, जैसे ऋण या क्रेडिट कार्ड का समय पर निर्धारित समय पर नहीं देना, जमा और निकासी में समस्या, आदि।
  4. ऑनलाइन बैंकिंग से संबंध समस्या: बीओआई के ऑनलाइन बैंकिंग या डिजिटल भुगतान सेवाओं में समस्या होने पर लोग शिकायत दर्ज करते हैं। ये समस्या हो सकती है, जैसे ट्रांजैक्शन फेल होना, पेमेंट गेटवे में समस्या, फ्रॉड से संबंध समस्या, आदि।
  5. अपराध और सुरक्षा से संबंध समस्या: जब लोग बीओआई में अपराध और सुरक्षा से संबंध समस्या जैसे चोरी, साइबर क्राइम, फिशिंग, आदि के बारे में जानकरी प्राप्त करते हैं, तो वे शिकायत दर्ज करते हैं।

शिकायत दर्ज करने का लक्ष्य है कि लोग अपनी समस्याओं का समाधान और न्याय प्राप्त करें और बैंक उनकी समस्याओं का समाधान करें। शिकायत दर्ज करने से बैंक को उनकी सेवा और प्रबंधन में सुधार करने का अवसर मिलता है।

बैंक ऑफ इंडिया की शिकायत ( bank of india me shikayat) कैसे करें?

बैंक ऑफ इंडिया में शिकायत दर्ज करने के लिए निम्‍नलिखित तारिके का इस्‍तेमाल कर सकते हैं:

  1. कस्टमर केयर हेल्पलाइन: आप बैंक ऑफ इंडिया के कस्टमर केयर हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं। आप उनके टोल-फ्री नंबर 1800 220 229 (24×7) पर या फिर उनके क्षेत्रीय हेल्पलाइन नंबरों पर कॉल कर सकते हैं।
  2. ब्रांच विजिट: आप अपने बैंक ऑफ इंडिया के किसी भी ब्रांच में जा कर अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं। शाखा के अधिकारी (आधिकारिक) आपकी शिकायत सुनेंगे और सही सलाह देंगे। बैंक ऑफ इंडिया के वेबसाइट पर आप ब्रांच लोकेटर का इस्तमाल करके नजरिकी ब्रांच की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  3. ई-मेल: आप बैंक ऑफ इंडिया के कस्टमर केयर को शिकायत के बारे में ई-मेल द्वारा भी संपर्क कर सकते हैं। उनके आधिकारिक ई-मेल आईडी Customerservice@bankofindia.co.in है। आप अपनी शिकायत को डिटेल में लिखे और साथ ही अपना नाम, खाता सांख्य और संपर्क के लिए सही मोबाइल नंबर या ई-मेल आईडी भी प्रदान करें।
  4. ऑनलाइन शिकायत दर्ज करें: आप बैंक ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर जा कर ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं। उनकी वेबसाइट पर एक ‘शिकायत और शिकायत’ (शिकायत एवं अपराध) सेक्शन होता है, जहां पर आप अपनी शिकायत को लिख सकते हैं और जरूरी दस्तावेज को स्कैन करके अपलोड कर सकते हैं।

शिकायत दर्ज करते समय, अपनी शिकायतों को सही तारिके से लिखे, सही विवरण प्रदान करें, और अगर संभव हो तो साथ ही कोई साक्षी (प्रमाण) जैसे बैंक पासबुक, लेन-देन विवरण, ई-मेल, आदि को भी साथ ले जाए। शिकायत दर्ज करने के बाद, बैंक या आरबीआई द्वारा दिए गए समय-सीमाओं में जवाब का इंतजार करें।

bank of india me online shikayat ( बैंक ऑफ इंडिया में ऑनलाइन शिकायत) कैसे करे

बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) में ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने के लिए निम्लिखित छोटे से स्टेप्स फॉलो करें:

  • बैंक ऑफ इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट पर जाए। (https://www.bankofindia.co.in)
  • वेबसाइट के होमपेज पर, “शिकायतें और शिकायतें” या “ग्राहक शिकायत निवारण” जैसे सेक्शन को खोजे। आपको यहां पर शिकायत दर्ज करने का लिंक या विकल्प मिल जाएगा।
  • शिकायत दर्ज करने के लिए दिए गए लिंक या ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • एक नया पेज ये फॉर्म खुलेगा, जहां पर आपको अपनी शिकायत का जीवन देना होगा।
  • फॉर्म में सही तारिके से अपना नाम, पता, खाता सांख्य, मोबाइल नंबर, और ई-मेल आईडी जैसे विवरण भरे।
  • अपनी शिकायत को डिटेल में लाइक करें। ध्यान रहे कि आप अपनी शिकायत को साफ और विशेष भाषा में पसंद करते हैं। समय और घाटना के सही तारों को मेंशन करे।
  • आपको शिकायत दर्ज करने के लिए कुछ साक्षी (प्रमाण) प्रदान करने के लिए कहा जा सकता है। अगर आपके पास कोई डॉक्यूमेंट है, जैसे बैंक पासबुक, ट्रांजैक्शन डिटेल, ई-मेल आदि, तो उन्हें स्कैन करके अपलोड करें।
  • शिकायत फॉर्म को सही तरीके से सबमिट करें।
  • जब आपकी शिकायत दर्ज हो जाएगी, आपको एक रेफरेंस नंबर या पावती नंबर प्राप्त होगा। क्या नंबर का प्रयोग करके आप अपनी शिकायत के स्थिति का पता लगा सकते हैं।

क्या तारिके से आप बैंक ऑफ इंडिया में ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं। शिकायत दर्ज करने के बाद, आपको बैंक द्वारा दिए गए समय-सीमाओं में जवाब का इंतजार करना होगा।

bank of india me offline shikayat ( बैंक ऑफ इंडिया में ऑफलाइन शिकायत) कैसे करे

बैंक ऑफ इंडिया (BOI) में ऑफलाइन शिकायत दर्ज करने के लिए निम्लिखित छोटे से स्टेप्स फॉलो करें:

  • बैंक ऑफ इंडिया के किसी भी शाखा में जाए। आप अपने शहर में बीओआई ब्रांच का पता लगा सकते हैं बैंक ऑफ इंडिया की आधिकारिक वेबसाइट या इंटरनेट के माध्यम से।
  • शाखा पहुंते समय, अपनी शिकायत का विवरण लिखकर साथ ले जाए। अपने नाम, पता, खाता सांख्य और संपर्क के लिए सही मोबाइल नंबर और ई-मेल आईडी भी लिखे।
  • शाखा में पंहुचते हैं, वहां के अधिकारी (आधिकारिक) से मिलने और उन्हें अपनी शिकायत के बारे में बताएं। उन्हें अपनी शिकायत का विवरण लिख रूप से प्रदान करें और साथ ही अपने सभी दस्तावेज और प्रमाण पत्र (प्रमाण) का एक सेट भी साथ ले जाए।
  • अधिकारी आपकी शिकायत सुनेंगे और जरूरी तारिके से आपकी समस्या को समझने की कोशिश करेंगे। वे आपको शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया और अगले कार्यवाही के बारे में सलाह देंगे।
  • आपको ब्रांच द्वारा एक शिकायत रसीद या पावती प्राप्त होगा, जिस्मे आपको शिकायत दर्ज होने की पुष्टि होगी। Is रसीद को सुरक्षित रखें और शिकायत का रेफरेंस नंबर नोट करें।
  • शिकायत दर्ज करने के बाद, आपको ब्रांच द्वारा दिए गए समय-सिमन में जवाब का इंतजार करना होगा।

आप ऑफलाइन तरिके से बैंक ऑफ इंडिया में शिकायत दर्ज कर सकते हैं। ध्यान रहे कि आप अपने सभी दस्तावेज, प्रमाण पत्र और शिकायत का विश्लेषण सही तारिके से तैयार करें और ब्रांच में अपने शिकायत को साफ और स्पष्ट भाषा में प्रस्तुति करें।

bank of india me shikayat kaise kare email se

बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) में शिकायत दर्ज करने के लिए ईमेल द्वारा निम्लिखित छोटे से स्टेप्स फॉलो करें:

  • अपने ईमेल सेवा प्रदाता पर जाएं और “रचना” या “नया ईमेल” विकल्प पर क्लिक करें।
  • “To” फील्ड में, BOI के ऑफिशियल कस्टमर केयर ईमेल एड्रेस “customerservice@bankofindia.co.in” को एंटर करें।
  • “विषय” फील्ड में, शिकायत का मुख्य विषय जैसे। इस बैंक ऑफ इंडिया के अधिकारी को समझने में मदद मिलेगी।
  • ईमेल का मुख्य भाग में, शिकायत को विस्तार में जैसे। इसमें आप अपनी शिकायत को साफ और विशेष भाषा में प्रस्तुत करें। जरूरत पड़ने पर अपने नाम, पता, खाता सांख्य, मोबाइल नंबर, और ई-मेल आईडी जैसे विवरण भी प्रदान करें।
  • अगर आपके पास कोई साक्षी (प्रूफ) है, जैसे बैंक पासबुक, ट्रांजैक्शन डिटेल्स, ई-मेल आदि, तो उन्हें ईमेल के अटैचमेंट के जरिए स्कैन करके अटैच करें।
  • शिकायत ईमेल को सही तारिके से रिवाइज करें और सही ईमेल एड्रेस को वेरिफाई करने के बाद, “भेजें” बटन पर क्लिक करें।
  • शिकायत ईमेल को भेजने के बाद, आपको ईमेल का एक कॉपी अपने संदर्भ के लिए सुरक्षित रखना चाहिए।
  • आपको बैंक ऑफ इंडिया द्वारा दिए गए समय-सिमन में जवाब का इंतजार करना होगा। बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से आपको ईमेल द्वारा जवाब या समाधान प्राप्त होगा।

क्या तारिके से आप ईमेल के द्वारा बैंक ऑफ इंडिया में शिकायत दर्ज कर सकते हैं। ध्यान रहे कि आप अपनी शिकायत को सही तरीके से लिखें, जरूरी डिटेल प्रदान करें, और अपने साक्षी (प्रूफ) को ईमेल के जरिए अटैच करें।

FAQ : boi me complain kaise kare
  • बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) में शिकायत दर्ज करने के लिए क्या जरूरी है?

Complain दर्ज करने के लिए आपको अपना नाम, पता, खाता सांख्य, मोबाइल नंबर, और ई-मेल आईडी जैसे विवरण प्रदान करना होगा। आपको शिकायत का विवरण लिखना होगा और अगर संभव हो, तो साथ ही कोई साक्षी (प्रमाण) जैसे बैंक पासबुक, लेन-देन विवरण, ई-मेल आदि को भी साथ ले जाना चाहिए।
बीओआई में शिकायत दर्ज करने के लिए क्या तारिके है?

  • शिकायत दर्ज करने के बाद मुझे क्या करना चाहिए?

Complain दर्ज करने के बाद, आपको बैंक या आरबीआई द्वारा दिए गए समय-सीमाओं में जवाब का इंतजार करना चाहिए। आपको दिए गए रेफरेंस नंबर या पावती नंबर को सुरक्षित रखे। अगर आपको समय-सीमा से बाहर जवाब मिलता है आपकी समस्या का समाधान नहीं होता है, तो आपको बैंक के उच्च अधिकारी या आरबीआई तक अपनी शिकायत को आगे बढ़ाने का विकल्प होता है।

  • शिकायत दर्ज करने से मुझे क्या फ़ायदा होगा?

Complain दर्ज करने से आपको अपनी समस्या का समाधान और न्याय प्राप्त करने का अवसर मिलता है। बैंक को आपकी शिकायत की जानकारी और समस्या का समाधान करने का मौका मिलता है। आपके द्वार दरवाजे की गई शिकायत बैंक को सेवा और प्रबंधन में सुधार करने के लिए प्रेरित करती है।

  • बीओआई में शिकायत दर्ज करने का समय-सीमां क्या होता है?

शिकायत दर्ज करने का समय-सिमन बैंक के नियम और नियमक अधिकारी के अनुसार होता है। आपको बैंक या आरबीआई की तरफ से गए गए समय-सीमा का पालन करना होगा। शिकायत दर्ज करने के बाद, बैंक आपको जवाब और समस्या का समाधान प्रदान करने की कोशिश करेगी उस समय-सीमा में।

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here